Important Movements Event Agreements of india in hindi

हेल्लो दोस्तों एक बार फिर से आपका सभी का स्वागत आज आपके सामने एक येसे टॉपिक पर बात करने जा रहे जो हमारे देश की आज़ादी से बहुत जुड़ा हे वो हे Important Movements Event Agreements of india ये सभी आंदोलन ने हमारे देश को आजाद करने में पूरा होगदान दिया है ये सभी आंदोलनों के बिना आज़ादी के बारे में सोच भी नहीं सकते और आपके history subject के लिए बहुत महत्वपूर्ण है और इसमें से competitive exam बहुत अच्छे प्रश्न पूछे जाते है और आपको यह जानकारी जरुर पढनी चाहिए और आपको सभी आंदोलनों की पूरी जानकारी आप को बताएँगे ताकि आपको सही से समज में आ शके तो जरुर पढ़े और सभी जानकारी पढ़े.

भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की स्थापना :

स्थापना : – 28 DEC 1885

संस्थापक : – एलन ऑक्टेवियन ह्यूम ( ए.ओ. ह्यूम ) { स्कॉटलैंड }

स्थान : – बंबई के गोकुलदास तेजपाल संस्कृत विद्यालय

वायसराय : –डफरिन

  • दादा भाई नौरोजी ने इसका नाम ” भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस “ किया पहले इसका नाम ” भारतीय राष्ट्रीय संघ “ था.

जलियांवाला बाग हत्याकांड :

13 अप्रैल 1919 रौलेट एक्ट के विरोध में पंजाब के अमृतसर के जलियांवाला बाग में एक सभा बुलाई गई और यह शांतिपूर्ण विरोध कर रहे थे पर जनरल डायर ने इन पर अंधाधुंध गोलियां चलवा दी इस घटना के विरोध में महात्मा गांधी ने ‘केसर ए हिंद’ की उपाधि और रविंद्र नाथ टैगोर ने ‘सर’ की उपाधि लौटा दी इस घटना की जांच के लिए हंटर कमीशन को नियुक्त किया गया.

  • सरकारी रिपोर्ट के अनुसार इस में 379 व्यक्ति मारे गए लेकिन कांग्रेस के अनुसार लगभग 1000 व्यक्ति मारे गए थे.जलियांवाला बाग हत्याकांड में इसराज जो एक भारतीय लेकिन इसने डायर का साथ दिया जलियावाला बाग हत्याकांड मे.

असहयोग आंदोलन (1920) : –

1 अगस्त 1920 को महात्मा गांधी जी के नेतृत्व में असहयोग आंदोलन शुरू किया गया.

चौरी चौरा काण्ड (1922) :

महात्मा गांधी के असहयोग आंदोलन के दौरान 4 फरवरी 1922 को कुछ लोगों की गुस्साई भीड़ ने गोरखपुर के चौरी – चौरा के पुलिस थाने में आग लगा दी थी इसमें 23 पुलिस वालों की मौत हो गई थी इस वजह से गांधीजी ने असहयोग आंदोलन भी स्तगित करदिया था.

गोलमेज सम्मेलन :

  • तीनो गोलमेज सम्मेलन लंदन में हुए थे भीमराव अंबेडकर जी ने तीनों गोलमेज सम्मेलन में भाग लिया था तीनो गोलमेज सम्मेलन के समय इंग्लैंड का प्रधानमंत्री रैम्जे मैकडोनाल्ड था.

प्रथम गोलमेज सम्मेलन

तारीख :- 12 Nov. 1930

जगह :-  सेंट जेम्स पैलेस ( लंदन )

वायसराय :- इरविन

  1. भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस और महात्मा गांधी जी ने इसमें भाग नहीं लिया .
  2. मुस्लिम लीग के नेता मोहम्मद अली जिन्ना , आगा खान , मोहम्मद अली ने भाग लिया.
  3. दलित वर्ग के नेता बाबा साहब भीमराव अंबेडकर ने भाग लिया.

दूसरा गोलमेज सम्मेलन :

तारीख :- 7 Sep 1931

जगह :- सेंटपॉल पैलेस ( लंदन )

वायसराय :- लिनलिथगो

सदस्य : + →  ●

मुस्लिम लीग : – मोहम्मद अली जिन्ना

दलित वर्ग : – बाबा साहब भीमराव अंबेडकर

कांग्रेस : – महात्मा गांधी गांधी जी एस एस राजपूताना जहाज से लंदन आए थे फ्रैंक मौरेस ने गांधीजी को ‘अर्धनग्न फकीर’ कहा था

तीसरा गोलमेज सम्मेलन :

तारीख :- 1932

जगह :- लंदन्

  • कांग्रेस के बहिष्कार के कारण यह सम्मेलन असफल रहा था.

गांधी इरविन समझौता

  • महात्मा गांधी का इरविन समजोता उनके और वायसराय इरविन के बिच में हुआ था जिसमे गांधीजी और इरविन ने एक दुसरे के सामने कुछ सर्ते रखी थी.

लॉर्ड इरविन की शर्तें : –

  1. सविनय अवज्ञा आंदोलन समाप्त किया जाए.
  2. कांग्रेस गोलमेज सम्मेलन में भाग लेने लंदन आए
  3. ब्रिटिश समान का बहिष्कार ना किया जाए.

महात्मा गांधी जी की शर्तें : – 11 सूत्रीय मांग

1 ) पूरीतरह से शराब पर प्रतिबंध.

2 ) विनिमय का tax घटाकर एक शिलिंग चार पैसा कर दी जाए.

3 ) जमीनी लगान आधा हो और उस पर काउंसिल का planning रहे.

4 ) नमक पर tax समाप्त किया जाए.

5 ) military expenditure में कम – से – कम 50 % की कमी हो.

6 ) बड़ी – बड़ी सरकारी नौकरियों का वेतन आधा कर दिया गया.

7 ) विदेशी garments पे Import पर tax लगे.

8 ) भारतीय समुद्र Coast सिर्फ भारतीय जहाज़ों के लिए सुरक्षित रहे और इसके लिए कानून बनाया जाए.

9 ) सभी राजनीतिक बंदियों को छोड़ दिया जाए.

10 ) जासूसी पुलिस हटा दिया जाए अथवा उस पर जनता का नियंत्रण रहे.

11 ) आत्मरक्षा के लिए हथियार की अनुमति दी जाए.

पूना समझौता :

पूना समझौता 24 सितंबर 1932 को यरवदा जेल ( पुणे ) में महात्मा गांधी और भीमराव अंबेडकर जी के बीच हुआ .

परिणाम :

1 ) central legislature में दलित वर्ग के लिए सुरक्षित सीटों को 18 % से बढ़ा दिया.

2 ) provincial legislature  में दलित वर्ग के लिए सीटें 71 से बढ़ाकर 148 कर दी गई.

पाकिस्तान की मांग :

  • 24 मार्च 1940 को लाहौर अधिवेशन में मुस्लिम लीग ने पाकिस्तान की मांग की

माउंटबेटन योजना : –

3 जून 1947 को वायसराय माउंटबेटन ने भारत के विभाजन की योजना रखी भारत :- 15 अगस्त 1947 पाकिस्तान:-  14 अगस्त 1947 को अलग हुआ और भारत और पाकिस्तानके बीच boundary Line ‘ रैडक्लिफ़ Line ‘ बनायीं गई.

♦♦♦ तो दोस्तों आपके सामने हमने Important Movements Event Agreements of india रखे और सभी आंदोलनों की पूरी जानकारी देने की कोशिस की और आपके सामने Important Movements Event Agreements का महत्व भी समजाया है और आपके सामने आज़ादी से यह सभी आंदोलनों केसे जुड़े हुए है और सभी आंदोलनों के साथ कोन-कोन लोग जुड़े हुए थे और उसमे उनका क्या योगदान था वह समजा है तो इस पोस्ट पूरी पढ़े और ज्यादा से ज्यादा शेयर करे.

Leave a Comment